अफरीदी मामूली इंसान नहीं है, अपनी ही बहन से पैदा किये है 5 औलादें, अपने ही बच्चों का मामा भी है अफरीदी

170
अफरीदी मामूली इंसान नहीं है, अपनी ही बहन से पैदा किये है 5 औलादें, अपने ही बच्चों का मामा भी है अफरीदी

पाकिस्तान का पूर्व क्रिकेट खिलाडी शाहिद अफरीदी जो की अब फुल टाइम भारत के खिलाफ जहर उगलता रहता है वो कोई मामूली इन्सान नहीं है। अफरीदी एक ऐसा इन्सान है जो की अपने बच्चों का अब्बू के साथ साथ मामा भी है, जी हाँ अब्बू के साथ साथ मामा भी, इसके अलावा अफरीदी अपनी ही बेगम का भाई भी है।

अफरीदी की बेगम का नाम नादिया अफरीदी है जो की इसकी बेगम होने से पहले इसकी बहन भी है। बचपन से ही शाहिद नादिया को बहन बोलता रहा, नादिया भी शाहिद को भाई जान बोलती रही, पर बड़े होते होते दोनों में भाई बहन का रिश्ता ही खत्म हो हो गया और अफरीदी ने अपनी ही बहन नादिया से निकाह कर उसे बहन से बेगम बना लिया।

अफरीदी मामूली इंसान नहीं है, अपनी ही बहन से पैदा किये है 5 औलादें, अपने ही बच्चों का मामा भी है अफरीदी

पर बेगम बनाने के बाद भी रिश्ते और सच खघ्त्म नहीं होता और नादिया शाहिद अफरीदी की बेगम तो है पर बेगम से पहले बहन भी है, ये अपनी ही बहन का शौहर है अपनी बहन कम बेगम से अफरीदी ने 5-5 औलादें पैदा की है, इसकी 5 बेटियां है और 1 बेटी तो अभी हाल ही में पैदा की है। इसने हाल ही में अपनी बहन कम बेगम को फिर अम्मा बना दिया है। अफरीदी 5 लड़कियों का अब्बू है, पर ये सिर्फ उन लड़कियों का अब्बू ही नहीं बल्कि मामा भी है, जी हां ये अपने ही बेटियों का अब्बू होने साथ साथ मामा भी है ।

शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) इससे पहले भी जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) को लेकर विवादित टिप्पणी कर चुके हैं। अफरीदी ने कहा था, कश्मीर में इंसानियत के खिलाफ आक्रामकता और अपराध बढ़ रहे हैं। कश्मीरियों को भी हमारी तरह आजादी का अधिकार मिलना चाहिए।

यहां आपको बता दें शाहिद अफ़रीदी के रिश्ते में लगने वाला भाई आतंकवादी रह चुका है। साल 2003 में अफरीदी का यही भाई कश्मीर के अनंतनाग में मारा गया था. सीमा सुरक्षा बल यानी बीएसएफ ने 12 सितंबर 2003 को कहा था कि शाकिब नाम के एक आतंकी को अनंतनाग में मार गिराया गया है।

उस वक्त बीएसएफ के इंस्पेक्टर जनरल विजय रमन ने इस बात की पुष्टि की थी कि वह पाकिस्तान  क्रिकेटर शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) का भाई है। आईजी ने कहा था कि साक़िब अनंतनाग इलाके में 2 साल से एक्टिव था और वह अफरीदी से अपने रिश्ते का फायदा लोगों को प्रभावित करने में भी उठाता था।

अब यही लीचड़ अफरीदी रावलपिंडी में लश्कर ज्वाइन कर फुल टाइम आतंकवादी बना है और भारत और भारतीय सेना के खिलाफ जहर उगलकर डोनेशन जमा करने का काम कर रहा है।