Arrest_Deepika_Rajawat : नवरात्रि पर हिन्दुओं का अपमान, ईद पर बधाइयां , सामने आया विवादास्पद वकील दीपिका सिंह राजावत का नया चेहरा

478
Arrest_Deepika_Rajawat : नवरात्रि पर हिन्दुओं का अपमान, ईद पर बधाइयां , सामने आया विवादास्पद वकील दीपिका सिंह राजावत का नया चेहरा
Arrest_Deepika_Rajawat : नवरात्रि पर हिन्दुओं का अपमान, ईद पर बधाइयां , सामने आया विवादास्पद वकील दीपिका सिंह राजावत का नया चेहरा

दीपिका राजावत ने सोमवार रात ट्विटर पर एक पोस्ट शेयर किया है। इसमें यह दिखाने की कोशिश की गई है कि जो बाकी दिनों में महिला के साथ अत्याचार करते हैं, वही नवरात्र के दौरान महिला का पूजन शुरू कर देते हैं। इसे लेकर ट्विटर पर काफी बवाल शुरू हो गया।

देवी-देवताओं को अपमानित करने के आरोप में वकील दीपिका राजावत की गिरफ्तारी की मांग तेज हो गई है। दरअसल, दीपिका ने हाल ही में एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने दिखाया कि नवरात्रि के दिनों में लड़कियों की क्या स्थिति होती है और बाकी दिनों में क्या होती है। उन्होंने ट्विटर पर एक फोटो शेयर किया, जिसे देखकर लोग भड़क गए।

दीपिका राजावत के ट्वीट को धार्मिक भावनाओं से जोड़कर देखने वाले इसका विरोध कर रहे हैं और दीपिका की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं. देखते ही देखते ट्विटर पर #Arrest_Deepika_Rajawat ट्रेंड होने लगा. ट्विटर पर गिरफ्तारी की मांग करने वालों में बीजेपी नेता भी शामिल हैं.

देखिये Video, अक्षय कुमार हिन्दुओ को बता रहे हैं वैष्णो देवी या किसी भी मंदिर मत जाओ, ये फिजूल काम है !

हिन्दू विरोधी मानसिकता से ग्रसित दीपिका अपना सेक्युलर चेहरा चमकाने और खुद को सेक्युलर गैंग का झंडाबरदार साबित करने के लिए किस तरह मुस्लिमों से प्यार दर्शाती है, इसका प्रमाण ईद के मौके पर दी गई बधाइयां हैं।

वकील मेहंदी रेजा कंगना रनौत के नवरात्रि पोस्ट पर बोला –‘बीच सड़क पर रेप होना चाहिए’

ऐसा पहली बार नहीं है, जब दीपिका ने मुस्लिमों की तरफदारी की हो। इससे पहले भी हिन्दुओं के खिलाफ और मुस्लिमों के पक्ष में ट्वीट करती रही है।

#BoycottLaxmmiBomb : करोडों हिन्दुओ की देवी माता श्रीलक्ष्मीदेवी का अनादर, ‘लक्ष्मी बम’ की जगह ‘सकीना बम’ क्यों नहीं ?

कौन हैं दीपिका राजावत ?
दीपिका राजावत एक कश्मीरी वकील हैं और जनवरी 2018 में कथित तौर पर एक नाबालिग से रेप की घटना के बाद चर्चा में आई थीं। दीपिका पीड़िता की वकील थीं, लेकिन परिवार ने बाद में उन्हों केस से हटा दिया था। पीड़िता के परिवार का आरोप था कि दीपिका इस मामले से सिर्फ पब्लिसिटी ले रही हैं, जबकि उनकी केस में कोई रूचि नहीं हैं और आदालत में भी नहीं आती हैं।