70 साल में पहली बार भारत की ऑस्ट्रेलिया पर ऐतिहासिक फतह

17

मेलबर्न । विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली टीम इंडिया ने ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज 2-1 से जीतकर इतिहास रच दिया है। भारत की इस जीत के हीरो लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल रहे जिन्‍होंने मैच में छह विकेट लिए। उनके इस प्रदर्शन की बदौलत सीरीज के तीसरे और निर्णायक मैच में भारत ने आज यहां ऑस्‍ट्रेलिया को सात विकेट से पराजित कर दिया। भारत ने ऑस्‍ट्रेलिया को उसके देश में पहली बार द्विपक्षीय सीरीज में हराने का कारनामा किया है। भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर कभी द्विपक्षीय वनडे सीरीज नहीं जीती है। इस प्रारूप में उसने ऑस्ट्रेलिया में 1985 में विश्व चैंपियनशिप और 2008 में सीबी सीरीज जीती थी।

पिछली बार भारत को 2016 में ऑस्ट्रेलिया ने यहां वनडे सीरीज में 4-1 से हराया था। चहल की जादुई गेंदबाजी के चलते भारत के आमंत्रण पर पहले बल्‍लेबाजी करने उतरी ऑस्‍ट्रेलिया टीम 48.4 ओवर में 230 रन पर ढेर हो गई। जवाब में भारत ने 231 रन का टारगेट 49.2 ओवर में तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया। टीम इंडिया के लिए धोनी सर्वाधिक 87 रन और केदार जाधव 61 रन बनाकर नाबाद रहे। कप्‍तान विराट कोहली ने 46 रन बनाए। सीरीज में एमएस धोनी ने तीनों वनडे में अर्धशतक जमाए।
अपनी बल्‍लेबाजी से माही ने उन आलोचकों को करारा जवाब दिया जो उनकी बल्‍लेबाजी की क्षमता पर सवाल उठा रहे थे। भारत ने इससे पहले ऑस्‍ट्रेलिया को उसके देश में टेस्‍ट सीरीज में भी हराने का कारनामा पहली बार किया था। मैच में छह विकेट लेने वाले युजवेंद्र चहल मैन ऑफ द मैच रहे जबकि महेंद्र सिंह धोनी को मैन ऑफ द सीरीज घोषित किया गया।

टॉस जीतकर भारत ने ऑस्ट्रेलिया को बल्ला थमाया। कंगारू टीम 48.4 ओवर्स में 230 रन बनाकर ऑलआउट हो गई। जवाब में टीम इंडिया ने चार गेंद शेष रहते तीन विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। दोनों के बीच चौथे विकेट के लिए 121 रन की नाबाद साझेदारी हुई। इसके पहले लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही। रोहित शर्मा (9) को पीटर सिडल ने स्लिप में शॉन मार्श के हाथों कैच आउट कराकर मेहमान टीम को पहला झटका दिया। पहला विकेट जल्दी गिरने के बाद शिखर धवन (23) और कप्तान विराट कोहली (46) ने संभलकर खेलना शुरू किया। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 44 रन की साझेदारी की और टीम का स्कोर 50 रन के पार लगाया।

स्टोइनिस ने अपने गेंदबाजी स्पेल के पहले ही ओवर में धवन को आउट करके टीम इंडिया को तगड़ा झटका दिया। स्टोइनिस ने अपनी ही गेंद पर धवन का आसान कैच लपका। यहां से कप्तान ने एमएस धोनी के साथ मिलकर टीम इंडिया की पारी को संभाला। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 54 रन की साझेदारी की और टीम का स्कोर 100 रन के पार लगाया। भारतीय टीम अच्छी तरह से लक्ष्य का पीछा कर रही थी कि तभी झाए रिचर्डसन की बाहर जाती गेंद से कोहली ने छेड़छाड़ की और अपना कीमती विकेट गंवा दिया। कोहली ने 62 गेंदों में तीन चौकों की मदद से 46 रन बनाए। इससे पहले युजवेंद्र चहल (10 ओवर में 42 रन देकर 6 विकेट) की करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी की बदौलत टीम इंडिया ने शुक्रवार को मेलबर्न में चल रहे तीसरे व निर्णायक वन-डे में ऑस्ट्रेलिया को 230 रन पर रोक दिया। टीम इंडिया को जीत के लिए 231 रन का लक्ष्य मिला है। मेजबान टीम 48.4 ओवर 230 रन पर ऑलआउट हुई।

Source link