माफिया मुख्तार अंसारी की पत्नी आफसा अंसारी निकली गैंगस्टर, गैर जमानती वारंट जारी

मुख्तार अंसारी की पत्नी और दो साले एक अपराधिक गैंग के लीडर के तौर पर काम कर रहे थे। इसलिए उनके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। मुख्तार अंसारी की पत्नी आफसा अंसारी व उनके साले सरजील रजा और अनवर शहजाद पर संगठित गिरोह के तौर पर अपराध करने का इल्जाम है।

191
माफिया मुख्तार अंसारी की पत्नी आफसा अंसारी निकली गैंगस्टर, गैर जमानती वारंट जारी
माफिया मुख्तार अंसारी की पत्नी आफसा अंसारी निकली गैंगस्टर, गैर जमानती वारंट जारी

लखनऊ। यूपी की योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी पर लगातार योगी सरकार शिकंजा कसती जा रही है। उनकी पत्नी आफसा अंसारी पर गैंगस्टर एक्ट लगा दिया है। मुख्तार के दो सालों के खिलाफ भी इसी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। माफिया मुख्तार अंसारी के परिजनों पर कार्रवाई और तेज कर दी है। गाजीपुर जिले की पुलिस ने आज जेल में बंद मुख्तार अंसारी की पत्नी और साले पर गैगेस्टर एक्ट तामील होने के बाद अब उनके खिलाफ गैर जमानती वांरट जारी कर दिया गया है।

पुलिस के अनुसार मुख्तार अंसारी की पत्नी और दो साले एक अपराधिक गैंग के लीडर के तौर पर काम कर रहे थे। इसलिए उनके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। मुख्तार अंसारी की पत्नी आफसा अंसारी व उनके साले सरजील रजा और अनवर शहजाद पर संगठित गिरोह के तौर पर अपराध करने का इल्जाम है।

पुलिस का कहना है कि शहर कोतवाली के छावनी लाइन स्थित भूमि गाटा संख्या 162 कुर्क शुदा जमीन है। फिर भी उस पर अवैध रूप से कब्जा किया गया। इसी तरह से थाना कोतवाली मौजा बवेरी में कुर्क की गई जमीन पर इन लोगों पर सरकारी जमीन पर कब्जा करने का आरोप है। इसके अलावा मुख्तार के दोनो सालों ने ठेका लेने के नाम पर कागजों पर हेरफेर भी किया था। जबकि पत्नी पर सरकारी धन के गबन का आरोप है। मुख्तार की पत्नी आफसा अंसारी और दोनो साले शरजील रजा एंव अहमद शहजाद फरार चल रहे है। उनके खिलाफ एनबीडब्लू का वांरट भी जारी किया गया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर मुख्तार अंसारी के दोनों बेटों पर बड़ी कार्रवाई की गई है। मुख्तार अंसारी के दोनों बेटों पर इनामी अपराधी पहले ही घोषित किया जा चुका हे।

इससे पहले मुख्तार अंसारी के बेटों उमर और अब्बास पर 25-25 हजार का इनाम घोषित किया जा चुका है। दोनों के खिलाफ कुछ दिन पहले अवैध कब्जे के मामले में एफआईआर हुई थी। लखनऊ में उनके अवैध कब्जे वाली दो इमारतों को ढहा भी दिया गया था। इसके अलावा पुलिस मुख्तार के कई अवैध निर्माणों को गिरा चुकी है।