आखिर ड्रग्स की थाली में छेद होने पर जया बच्चन को क्या परेशानी है ?

ड्रग्स की थाली में छेद होने पर जया बच्चन को क्या परेशानी है ? जिस थाली में ड्रग्स की डोज भरकर युवाओं को नशे की गर्त में धकेला जा रहा था, उस थाली में छेद क्यों नहीं होना चाहिए ? इंडस्ट्री में एक तरफ वो आवाजें हैं जो ड्रग माफिया के इस खेल की कलई खोल रही हैं तो दूसरी तरफ वो कुछ लोग हैं जो इस खेल में खिलाड़ी हैं और जया बच्चन-अनुराग कश्यप जैसे चेहरों को आगे करके अपना खेल चला रहे हैं।

222
आखिर ड्रग्स की थाली में छेद होने पर जया बच्चन को क्या परेशानी है ?
आखिर ड्रग्स की थाली में छेद होने पर जया बच्चन को क्या परेशानी है ?

आज पूरा देश सोशल मीडिया पर जया बच्चन से यही सवाल पूछ रहा है कि ड्रग्स माफिया लॉबी की आवाज को संसद सदन में क्यों रखा गया है? और बॉलीवुड के कई सितारे उस आवाज़ को बुलंद क्यों कर रहे हैं?

आखिर ये कौन लोग हैं जो ड्रग माफिया की थाली में छेद होने से बिलबिला रहे हैं। महाराष्ट्र सरकार और कंगना रनौत के बीच अभी जुबानी जंग खत्म भी नहीं हुई थी कि संसद सत्र में जया बच्चन की स्पीच ने सोशल मीडिया पर नई बहस छेड़ दी। कंगना ने इसी बहस की प्रतिक्रिया में एक नया ट्वीट किया और कहा कि उन्होंने इंडस्ट्री को फेमेनिज्म सिखाया और यहाँ देश भक्ति व नारी प्रधान फिल्में की।

दरअसल कंगना रनौत और रविकिशन ने जिस ड्रग के खेल पर सवाल खड़े किए हैं उसी के बाद से इंडस्ट्री 2 हिस्सों में बंटती दिखाई दे रही है। संसद में बॉलीवुड ड्रग सिलसिले का जिक्र होने के बाद से देशभर में इसी मुद्दे पर चर्चाओं का बाजार गर्म है।

जया बच्चन के बयान की पूरे देश में लानत मलामत हो रही है, जया ने संसद में कहा था कि बॉलीवुड को बदनाम करने की कोशिश हो रही है और जिस थाली में खाया जाता है उसी में छेद किया जा रहा है। बड़ा सवाल ये उठता है कि आखिर जया बच्चन किस थाली की बात कर रही हैं?

चर्चा-ए-आम ये है कि जया बच्चन ने जिस थाली का जिक्र किया है उस थाली में क्या है? क्या दाऊद के नेक्सस से उस थाली में ड्रग्स की डोज नहीं है, जिसे कंगना और रविकिशन ने उडेलने का काम किया है।

आखिर ड्रग्स की थाली में छेद होने पर जया बच्चन को क्या परेशानी है? जिस थाली में ड्रग्स की डोज भरकर युवाओं को नशे की गर्त में धकेला जा रहा था, उस थाली में छेद क्यों नहीं होना चाहिए?

इंडस्ट्री में एक तरफ वो आवाजें हैं जो ड्रग माफिया के इस खेल की कलई खोल रही हैं तो दूसरी तरफ वो कुछ लोग हैं जो इस खेल में खिलाड़ी हैं और जया बच्चन-अनुराग कश्यप जैसे चेहरों को आगे करके अपना खेल चला रहे हैं।

कंगना ने एक ट्वीट के रिप्लाई में लिखा, “कौन सी थाली दी है जया जी और उनकी इंडस्ट्री ने? एक थाली मिली थी जिसमें दो मिनट के रोल आइटम नम्बर्ज़ और एक रोमांटिक सीन मिलता था वो भी हीरो के साथ सोने के बाद। मैंने इस इंडस्ट्री को फ़ेमिनिज़्म सिखाया, थाली देश भक्ति नारी प्रधान फ़िल्मों से सजाई, यह मेरी अपनी थाली है जया जी आपकी नहीं।”

बता दें कि कल जया बच्चन ने संसद सत्र में अपने भाषण के दौरान रवि किशन को निशाना बनाते हुए ताना दिया था कि ऐसे लोग जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करते हैं।

इसके बाद रवि किशन का जवाब आया और जया बच्चन ट्विटर पर ट्रेंड करनी लगी। कंगना रनौत ने भी इस बीच जया बच्चन से पूछा कि जैसा उनके साथ हुआ वैसा उनकी बेटी श्वेता के साथ होता या जैसा सुशांत के साथ हुआ वैसे उनके बेटे अभिषेक के साथ होता तो भी क्या वह ऐसे ही कहतीं?

उनके इस ट्वीट पर 3 हजार से ज्यादा कमेंट आए। लेकिन कॉन्ग्रेस नेता डॉ उदित राज ने इसका रिप्लाई देते हुए कंगना रनौत को नालायक बता दिया। डॉ उदित राज ने लिखा, “कंगना रनौत आप जैसी नालायक बेटी जया बच्चन की होती तो उसके साथ ऐसा ही होता।”

यहाँ बता दें कि कॉन्ग्रेस नेता डॉ उदित राज इससे पहले भी कंगना पर टिप्पणी कर चुके हैं। महाराष्ट्र राज्यपाल से मिलने पर कंगना के लिए डॉ उदित राज ने कहा था कि वह नशेड़ी और भाजपा समर्थक हैं। उन्होंने ट्वीट में लिखा था, “नशेड़ी कंगना रनौत से आज राज्यपाल मिले। गोदी मीडिया, भाजपा आईटी सेल और भक्त सभी समर्थन कर रहे हैं। चोर, अपराधी और भ्रष्ट सभी का स्वागत बशर्ते भाजपा का समर्थक हो।”