अस्पताल प्रशासन पर आरोप-नोएडा में कोरोना पीडित पति-पत्नी को अस्पताल से भगाया
अस्पताल प्रशासन पर आरोप-नोएडा में कोरोना पीडित पति-पत्नी को अस्पताल से भगाया

नोएडा। महामारी बन चुके कोरोना वायरस से देश ही नहीं पूरी दुनिया खौफजदा है। लेकिन ग्रेटर नोएडा के सरकारी अस्पताल को शायद इसकी कोई परवाह नहीं है। अस्पताल प्रशासन पर आरोप लग रहा है कि उसने कोरोना पीड़ित दो मरीजों को अपने यहां भर्ती करने के बजाए उन्हें वहां से भगा दिया। अब इस दंपति का इलाज गाजियाबाद के जिला अस्पताल में चल रहा है।

इस मामले को स्वास्थ विभाग की बड़ी लापरवाही माना जा रहा है। आरोप है कि यह यह पति-पत्नी ग्रेटर नोएडा के सरकारी अस्पताल में भर्ती थे। इनका यहां कोरोना वायरस (कोविड- 19) का टेस्ट हुआ। जब टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो गाजियाबाद के इस दंपति को अस्पताल प्रबंधन ने उन्हें वहां से यह कहते हुए भगा दिया कि गाजियाबाद में जाकर भर्ती हों। आरोप है कि अस्पताल प्रशासन ने उन्हें एंबुलेंस भी उपलब्ध नहीं कराई। दोनों मरीज अपनी प्राइवेट गाड़ियों से देर रात को गाजियाबाद के जिला एमएमजी अस्पताल पहुंचे, जहां उन्हें भर्ती कर लिया गया। सीएमओ डॉक्टर एनके गुप्ता ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने मामले की शिकायत शासन से करने की बात कही है।