Pregnant महिला गयी चेकअप कराने, डाक्टर ने कर की नसबंदी
surgeon_demo pic.

हरदोई। मामला हरदोई के ब्लाक कछौना के एक गांव की महिला का है जो सरकारी अस्पताल में चेकअप कराने गयी थी। वहां डाक्टरों की बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है। यहां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टरों ने एक गर्भवती महिला की ही नसबंदी कर दी। मामले का खुलासा तब हुआ जब महिला ने जांच कराई। अब सीएमओ से लेकर स्वास्थ्य महकमा मामले में अपना पल्ला झाड़ रहा है। वहीं महिला के पति ने इस संबंध में मुख्यमंत्री हेल्पलाइन से शिकायत कर मुआवजे की मांग कर दी है।

मामले में हरदोई के सीएमओ डॉ. सुरेंद्र कुमार रावत का कहना है कि ब्लाक कछौना के एक गांव की महिला है, जिसकी 23 दिसंबर को नसबंदी हुई थी उसका कहना है कि वह पहले से गर्भवती थी और उसकी नसबंदी कर दी गई। सीएमओ ने कहा कि कोई भी केस हमारे यहां आता है तो हिस्ट्री ली जाती है. पूरी जांच की जाती है. अगर जांच में प्रेगनेंसी निकलती है तो नसबंदी नहीं की जाती है।

सीएमओ डॉ. सुरेंद्र कुमार रावत ने कहा कि हर महिला के साथ ये प्रक्रिया अपनाई जाती है. इस मामले में महिला की जो शिकायत है उस पर पूरी जांच कराई जाएगी और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।