बदलते मौसम में सर्दी-जुकाम, इससे बचने के उपाय

182
बदलते मौसम में सर्दी-जुकाम, इससे बचने के उपाय
बदलते मौसम में सर्दी-जुकाम, इससे बचने के उपाय

सर्दियों का मौसम फ्लू का सीजन है , बड़ी संख्या में लोग कॉमन कोल्ड यानी सर्दी-जुकाम की चपेट में आ जाते हैं। यह लिहाजा हर दूसरा बंदा आपको छींकता और खांसता हुआ मिल जाएगा। जब आपको सर्दी-जुकाम होता है, नाक बह रही होती है या फिर जब बुखार होता है तो आपके शरीर से काफी मात्रा में पानी बाहर निकल जाता है। लिहाजा यह जरूरी है कि आप ढेर सारा पानी पिएं ताकि शरीर में मौजूद टॉक्सिन्स को बाहर निकालने में मदद मिल सके। पानी पीने से नाक में मौजूद म्यूकस को भी लुब्रिकेट करके बाहर निकालने में मदद मिलती है।

आपको समझना होगा कि ऐंटीबायॉटिक्स सिर्फ उन्हीं बीमारियों पर काम करता है जो बैक्टीरिया की वजह से होते हैं। कॉमन कोल्ड, बैक्टीरिया नहीं बल्कि वायरस की वजह से होता है और ऐंटीबायॉटिक्स का इन पर कोई असर नहीं होता। लिहाजा अगर हफ्ते भर से ज्यादा समय से जुकाम की दिक्कत है तो अपने मन से दवाइयां खाने की बजाए डॉक्टर से संपर्क करें। यह चेस्ट इंफेक्शन या कोई और बीमारी भी हो सकती है।

​इन वजहों से जुकाम को ठीक होने में लगता है ज्यादा समय

सर्दी-खांसी और जुकाम हो तो उस वक्त चिप्स, चॉकलेट, कॉफी जैसी कंफर्ट वाली चीजें खाकर किसी तरह काम चलाने की बजाए आपको एक बैलेंस्ड डायट लेने की जरूरत होती है। लिहाजा अपने खानपान का पूरा ख्याल रखें। कॉमन कोल्ड के वक्त मीठी चीजों से दूर रहें क्योंकि ये चीजें इम्यून सिस्टम को कमजोर बना देती हैं और कोल्ड के लक्षण बढ़ जाते हैं।

बहुत से लोग रात में अच्छी नींद लेने के महत्व को हल्के में लेते हैं। हमारी बदलती और बिजी लाइफस्टाइल की वजह से बड़ी संख्या में लोग रात के वक्त सही तरीके से नींद नहीं ले पाते हैं। ऐसे में अगर आपका भी जुकाम लंबा चल रहा है और ठीक नहीं हो रहा तो जरा शरीर को आराम दें और नींद पूरी करने की कोशिश करें। कोल्ड से लड़कर उसे हराना है तो आपको अच्छी नींद लेने की जरूरत है।

नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ ऐलर्जी ऐंड इन्फेक्शियस डिजीज की मानें तो एक सामान्य कॉमन कोल्ड करीब 7 से 10 दिनों तक रहता है। लेकिन हर केस में ऐसा हो जरूरी नहीं है। ऐसे में अगर घरेलू नुस्खे, दवाइयां हर तरह के उपाय करने के बाद भी आपका सर्दी-जुकाम ठीक नहीं हो रहा तो हो सकता है कि आप अपने डेली रुटीन में कुछ गलतियां कर रहे हों।