सनसनी खेज हत्याकांड का खुलासा : 3 पतियों से नहीं चला काम तो 2 प्रेमी ओर बनाये, फिर हुआ खौफनाक अंजाम !!

23
wife_kill_husband_with_two_lovers
wife_kill_husband_with_two_lovers

शिवपुरी। शहर में सनसनी खेज हत्याकांड का खुलासा हुआ है , चंपा मूलरूप से सागर की रहने वाली है। वहां उसकी पहली शादी हुई थी, लेकिन चंपा के मुताबिक उसका पति बीमारी से मर गया था। जबकि शिवपुरी आने के बाद दूसरी शादी जिससे हुई उसकी हत्या कर दी गई थी। जबकि तीसरी शादी कोर्ट मैरिज के माध्यम से मुकेश जाटव से हुई थी।

बता दें कि दूसरे हत्याकांड का अब तक खुलासा नहीं हुआ है। यहीं कारण है कि एसपी चंदेल ने चंपा को पीआर पर लेने की बात कही है और पहले के दो पतियों के बारे में पूछताछ करने के निर्देश दिए हैं। उनका कहना है कि सागर सहित शिवपुरी में उसके पति की हत्या के संबंध में पुलिस किसी नतीजे पर पहुंच सकती है।

एसपी राजेश सिंह चंदेल ने बताया कि शहर के बीच हत्याकांड से पुलिस ने मामले को संवेदनशीलता से लिया। कोतवाली टीआई बादामसिंह यादव और एसडीओपी शिवसिंह भदौरिया की टीम सक्रिय हुई और रात को ही तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। इस मामले में पुलिस को घटना स्थल से ही सुराग लगना शुरू हो गए थे। जिस दौरान पुलिस स्पॉट पर पहुंची और पड़ताल कर रही थी उसी दौरान घटना स्थल से चंद फासले पर किराए से रह रही मृतक की पत्नी चंपा बार बार देखने आ रही थी। वह आती और वापस लौट जाती। फिर छत पर चढ़कर देखती।

पुलिस को यह सब अजीब लग ही रहा था कि तभी एक बालक टीआई बादामसिंह के पास आया और बताया कि जो फोटो मृतक मुकेश की जेब से मिला है वह चंपा आंटी का है। चंपा आंटी के कई प्रेमी हैं और वह बार बार आकर तांक झांक कर रही हैं। इसके साथ ही महिला पुलिस ने सबसे पहले चंपा को कब्जे में लिया।

चंपा ने पुलिस को बताया कि एक दिन पहले उसका पति आया था फिर घर नहीं पहुंचा। लेकिन जब पुलिस ने अपने अंदाज में पूछताछ की तो चंपा टूट गई और उसने आरोपी कल्लू उर्फ मुबारिक 21 पुत्र जहूर खान पठान, निवासी संजय कालोनी और छोटू उर्फ इदरीस 19 पुत्र पूरन रजक निवासी संजय कालोनी के साथ हत्याकांड को अंजाम देना स्वीकारा। यहां से पुलिस ने तेजी दिखाते हुए हम्माल कल्लू पठान और वेटर छोटू रजक को उठाया तो उन्होंने सारी कहानी बयां कर दी।

शहर के बीच मानस भवन में शुक्रवार को हुए नृशंस हत्याकांड से पर्दा हट गया है। मृतक मुकेश जाटव की हत्या उसी की पत्नी ने अपने दो प्रेमियों के साथ मिलकर की। इनमें से एक हम्माल है जबकि दूसरा वेटर। इन दोनों ने एक साथ 40 बार सिर पर पत्थरों से कर मुकेश को मौत के घाट उतार दिया था।

मृतक मुकेश को आभास था कि चंपा और कल्लू के बीच अवैध संबंध हैं यहीं कारण था कि कल्लू मुकेश से अदावत रखता था। बुधवार को भी जब मुकेश ने चंपा की मारपीट की और बाद में चंपा ने कल्लू को बताया तो कल्लू ने मोबाइल पर मुकेश को धमकाया और मारपीट न करने की धमकी दी। लेकिन मुकेश ने डरने की वजाय कल्लू को ललकारा और कहा कि वह तो मारपीट करेगा। तुझे जो दिखे कर ले।

कल्लू ने जब मुकेश को धमकी दी और बदले में मुकेश ने उसे अपने पास बुलाया तो कल्लू मानस भवन जा पहुंचा। यहां गुरुवार की रात 10 बजे दोनों मिले। इसके बाद जमकर शराब पी और मौके पर ही तीसरे आरोपी छोटू रजक को बुला लिया। यहां जब मुकेश ने ज्यादा शराब पी ली तो कल्लू और छोटू ने मिलकर पेवर्स टाइल्स से 40 बार कर मुकेश को मौत के घाट उतार दिया और धारदार हथियार से उसका गला रेता और प्रायवेट पार्ट काट दिया।

आरोपी कल्लू ने पुलिस को बताया कि आरोपी छोटू अक्सर कहता था कि वह मर्डर करना चाहता है। कैसे होता है। यहीं कारण रहा कि जब कल्लू ने मुकेश को रास्ते से हटाने की सोची तो उसने मौके पर छोटू को भी बुला लिया बाद में दोनों ने मिलकर हत्याकांड को अंजाम दे दिया। आरोपियों को पकड़ने में टीआई बादाम के अलावा, उनि सुनील राजपूत, गीतेश शर्मा, अरबिंद छारी, पूर्णिमा लांबे, आबिद खान, भ्ूपेन्द्र, नरेश, सलीम, सियाराम, देवेन्द्र, रामजी पाराशर और अंजलि राय का योगदान रहा।