NCR में चल रहा ठगी का ये काला कारोबार, शर्म के मारे युवा नहीं करते पुलिस में शिकायत
NCR में चल रहा ठगी का ये काला कारोबार, शर्म के मारे युवा नहीं करते पुलिस में शिकायत

ग्रेटर नोएडा। किसी भी काम के लिए शॉर्टकट अपनाना मुसबीत में डाल सकता है। बावजूद इसके लोग पैसे कमाने के लिए कई बार ऐसे शॉर्टकट के चक्कर में पड़ जाते हैं जो उनकी मुश्कील बढ़ा देते हैं।

ऐसा की इन बेरोजगार युवाओं के साथ हुआ। शार्टकट से पैसा कमाने और खूबसूरत महिलाओं सेक्स संबंध बनाने का लालच इन युवाओं का ले डूबा। इन दिनों जिगोलो शब्द किसी के लिए नया नहीं है।

कारण, ये शब्द तेजी से खबरों में दिखाई या सुनाई पड़ जाएगा। वहीं अब इसी के नाम पर बड़ी ठगी (तिंनक) का खुलासा नोएडा पुलिस ने किया है।

दरअसल, इन दिनों दिल्ली-एनसीआर में जिगोलो बनाने और देह व्यापार के नाम पर ठगी का कारोबार चल रहा है। ऐसा ही कुछ ग्रेटर नोएडा के युवकों के साथ हुआ। जहां बीते एक सप्ताह में कई युवाओं के साथ जिगोलो बनाने के नाम पर ठगी कर ली गई।

जिसकी शिकायत मिलने पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। विज्ञापन देकर बेरोजगारों को बना रहे अपना शिकार बना रहे हैं। पुलिस के मुताबिक एक गैंग सक्रिय है जो बेरोजगार युवाओं को बड़े घरानों की औरतों को खुश करने के बदले में मोटी रकम का लालच देकर ठगी कर रहा है।

आरोप है कि ये लोग अखबारों में विज्ञापन के माध्यम से लोगों को निशाना बनाते और जिगोलो बनने का ऑफर देते। इसके बदले में वह रजिस्ट्रेशन कराने के नाम पर हजारों की ठगी करते हैं। शिकायत मिलने पर पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है।

पुलिस के मुताबिक, ग्रेटर नोएडा समेत एनसीआर के कई क्षेत्रों में जिगोलो गैंग सक्रिय है। ये लोग ऑनलाइन रोजगार तलाशने वाले बेरोजगार युवाओं को अपना निशाना बनाते हैं और उन्हें लालच देकर ठगी का शिकार बना रहे हैं।

वन टाइम रजिस्ट्रेशन के नाम पर ठगीढइत ध्झ पुलिस का कहना है कि जो लोग इस गैंग के झांसे में आ जाते हैं उन्हें ये वन टाइम रजिस्ट्रेशन कराने के लिए कहते हैं।

जिसके लिए ये संबंधित युवक को मैसेज के जरिए एक बैंक अकाउंट नंबर देते हैं और उसमें हजारों रुपये ट्रांसफर कराने को कहते हैं। पैसा ट्रांसफर होते ही ये पीड़ितों के नंबर ब्लॉक कर देते हैं।

इस बाबत एसपी देहात कुमार रणविजय सिंह ने बताया कि बीते एक सप्ताह में ग्रेटर नोएडा में ऐसे कई मामले सामने आए हैं। जिनमें पीड़ितों की तरफ से पुलिस को शिकायत दी गई है।

वहीं कोई भी व्यक्ति शर्म के चलते लिखित शिकायत देने को तैयार नहीं है। जांच में पता चला है कि एनसीआर में ठगी का यह काला कारोबार बड़े पैमाने पर चल रहा है।

इसके लिए स्पेशल टीम लगाई गई है। लोगों से यह अपील है कि ऐसे किसी भी विज्ञापन के झांसे में न आएं।