दिल दहलाने वाली घटना : विजयादशमी के दिन RSS कार्यकर्ता की पत्नी-बच्चा समेत हत्या

47
दिल दहलाने वाली घटना : विजयादशमी के दिन RSS कार्यकर्ता की पत्नी-बच्चा समेत हत्या
दिल दहलाने वाली घटना : विजयादशमी के दिन RSS कार्यकर्ता की पत्नी-बच्चा समेत हत्या

मुर्शिदाबाद। पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में अज्ञात बदमाशों ने घर में घुसकर टीचर की गर्भवती पत्नी और बेटे समेत हत्या कर दी। पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है।

यहां विजयादशमी के दिन एक परिवार के तीन लोगों की निर्मम हत्या को अंजाम दिया गया। मरने वाला शख्स आरएसएस का कार्यकर्ता भी था।

इस घटना को पश्चिम बंगाल में एक बार फिर हिंसक राजनीतिक संघर्ष माना जा रहा है. मृतक बंधु प्रकाश पाल मुर्शिदाबाद के सरकारी स्कूल में प्राइमरी टीचर था।

हत्यारों ने बंधु प्रकाश के साथ ही उनकी 8 माह की गर्भवती पत्नी और 8 साल के बेटे की भी निर्मम हत्या कर डाली. घटना की जानकारी जब आसपास के लोगों को लगी तो सनसनी फैल गई। वहीं पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू की है।

बता दें कि बुधवार को मुर्शिदाबाद के जियागंज इलाके में RSS कार्यकर्ता बंधु प्रकाश पाल उनकी पत्नी ब्यूटी पाल और 8 साल के बेटे आनंद पाल का शव मिला था. तीनों की धारदार हथियार से हत्या की गई थी। सामने आ रही जानकारी के मुताबिक ब्यूटी पाल गर्भवती थी।

इस ट्रिपल मर्डर के बाद पश्चिम बंगाल की सियासत गरमा गई है। पश्चिम बंगाल के RSS सचिव जिश्नू बसु ने कहा कि मृतक आरएसएस के कार्यकर्ता थे और हाल ही में चलाए जा रहे अभियान साप्ताहिक मिलन से जुड़े थे।

परिवार की हत्या के बाद के फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गए है। इस घटना के बाद भाजपा नेता संबित पात्रा ने ट्विटर पर घटना स्थल के फोटो और वीडियो को भी शेयर किया है।

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘ चेतावनी: इन डरावने वीडियो ने मुझे झकझोर कर रख दिया है… एक आरएसएस कार्यकर्ता बंधु प्रकाश पाल, उनकी 8 महीने की गर्भवती पत्नी और उनके बेटे की पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में निर्दयतापूर्वक हत्या कर दी गई। किसी भी उदारवादी का एक शब्द नहीं निकला. 59 उदारवादियों में से किसी ने भी लेटर नहीं लिखा।

इस घटना के सामने आने के बाद पश्चिम बंगाल में एक बार फिर राजनीतिक हिंसा की घटनाएं शुरू होने की आशंका पैदा हो गई है। हालांकि अब तक इस वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों और इसकी वजह का खुलासा नहीं हो सका है।