देश में एक और बैंक का भठटा बैठा, रिजर्व बैंक ने 1000 से ज्यादा की निकासी पर लगायी रोक

34
RBI-Restriction-PMC-Bank-1000-Cash-Withdrawals

नई दिल्ली। पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (Punjab And Maharashtra Cooperative Bank) के ग्राहकों के लिए बहुत ही बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही है।

बैंक द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक ग्राहक अब हर दिन सिर्फ 1,000 रुपये ही अपने अकाउंट से निकाल पाएंगे।  भारतीय रिजर्व बैंक ने मुंबई से चलने वाले पंजाब और महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक के खातों से अगले छह महीने तक 1000 रुपए से ज्यादा की निकासी पर रोक लगा दी है।

पीएमसी बैंक में सेविंग, करेंट या किसी भी तरह का एकाउंट रखने वाले खाताधारक 23 सितंबर से छह महीने तक मात्र 1000 रुपए ही निकाल पाएंगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक महाराष्ट्र, दिल्ली, कर्नाटक, गोवा, गुजरात, आंध्र प्रदेश और मध्य प्रदेश में 137 ब्रांच के जरिए बैंकिंग कारोबार कर रहे पीएमसी बैंक पर बैड लोन और वित्तीय गड़बड़ी के आरोप में रिजर्व बैंक ने ये प्रतिबंध लगाया है। रिजर्व बैंक ने ये साफ किया है कि बैंक का लाइसेंस कैंसिल नहीं किया गया है।

वहीं बैंक के एमडी जॉय थॉमस ने ग्राहकों से ना घबराने की अपील में बयान जारी करके बैंक के खराब हालात की जवाबदेही ली है और कहा है कि जो गड़बड़ी हैं उन्हें रिजर्व बैंक के 6 महीने की मियाद से पहले ठीक कर लिया जाएगा।

रिजर्व बैंक ने पीएमसी बैंक पर जो छह महीने का प्रतिबंध लगाया है उस दौरान बैंक ना कोई लोन देगा, ना एडवांस और ना ही कहीं कोई निवेश करेगा। पीएमसी बैंक इस दौरान कोई नया जमा भी नहीं लेगा और देनदारी चुकता करने की हालत में भी ऐसा कुछ भी करने से पहले रिजर्व बैंक से इजाजत लेगा।

1984 में मुंबई से शुरू हुए पीएमसी बैंक की देश भर के सात राज्यों में 137 शाखाएं हैं और मार्च, 2019 तक के आंकड़ों के हिसाब से इसके पास आम लोगों और कंपनियों का 11617 करोड़ रुपया जमा है।

बैंक ने पिछले वित्त वर्ष में 99.69 करोड़ का मुनाफा घोषित किया था जो उसके पहले साल भी 100.90 करोड़ था। डूबते खातों में बैंक का एनपीए 2.19 परसेंट है।