विधायक नाहिद हसन की गिरफ्तारी के लिए दबिश देने पहुंची पुलिस

शामली। कैराना के सपा विधायक नाहिद हसन के मामले में पुलिस प्रशासन द्वारा की दी गई समयावधि शुक्रवार शाम समाप्त हो गई है। लेकिन इस बीच न तो विधायक द्वारा गाड़ी उपलब्ध कराई गई और न ही उसके कागजात दिखाए गए।

विधायक नाहिद हसन की गिरफ्तारी के लिए दबिश देने पहुंची पुलिस

अदालत से गिरफ्तारी वारंट जारी होते ही कैराना के विधायक नाहिद हसन अपने लावलश्कर और बगैर कागजात की गाड़ी समेत फरार हो गए।

विधायक नाहिद हसन की गिरफ्तारी के लिए दबिश देने पहुंची पुलिस

इस मामले में एसपी अजय कुमार ने बताया कि अब पुलिस विधायक को और समय नहीं देगी। कोर्ट से जारी वारंट के आधार पर विधायक की गिरफ्तारी कर कोर्ट में पेश किया जाएगा।

एसपी शामली अजय कुमार ने नाहिद हसन की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की 11 टीमों को उनके ज्ञात व अज्ञात सभी ठिकानों पर दबिश देने हेतु रवाना कर दिया है। गिरफ्तारी होने तक ताबड़तोड़ छापेमारी जारी रहेगी।

विधायक नाहिद हसन की गिरफ्तारी के लिए दबिश देने पहुंची पुलिस

एसपी अजय कुमार का कहना है कि नाहिद हसन की फरारी के बाद पुलिस अब अदालत से उनकी संपत्ति की कुर्की के अतिरिक्त उन पर ईनाम घोषित कराने की प्रक्रिया अमल में लाएगी।

विधायक ने ना तो खुद बयान दर्ज कराए ,ना ही गाड़ी के कागजात पुलिस को दिखाए। वो संदिग्ध गाड़ी जिसे लोग चोरी की गाड़ी बता रहे हैं उसे भी थाने में उपस्थित नहीं कर सके। अब सारा समय समाप्त हो गया है।

यह है पूरा मामला
बीते 9-सितम्बर का है जब एसडीएम व सीओ कैराना द्वारा माननीय कैराना विधायक नाहिद हसन द्वारा प्रयोग में लाई जा रही पजेरो स्पोर्ट कार जिसका नम्बर संदिग्ध प्रतीत होने पर उनके चालक से गाड़ी के कागजात दिखाने को कहा गया था। इस पर विधायक द्वारा गाड़ी के कागज नहीं दिखाए गए, विधायक होने का व विधायक के प्रोटोकॉल का हवाला दिया गया, उच्च व उग्र स्वर में राजपत्रित अधिकारियों से अभद्रता की गई, लोगों को उकसाते हुए मौके पर भीड़ एकत्रित की गई, जिसके कारण लोक-व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा था।

साथ ही, महत्वपूर्ण त्यौहारों के मद्देनजर जनपद में लागू धारा 144 का भी विधायक द्वारा घोर उल्लंघन किया गया था। इस प्रकार के सभी आरोपों की पुष्टि एडिशनल एसपी की जाँच में होने के उपरान्त एसपी शामली के आदेश पर उपरोक्त कुल 9 धाराओं के तहत मुकघ्द्दमा दर्ज कर गहन तफ्तीश शुरू कर दी गई है। विधायक के खिलाफ संगीन अपराधों के 11 मामले दर्ज है। इन 11 में चार मामलों में आज पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए गई थी मगर वे फरार हो गए।