उपचुनाव: प्रियंका ने युवा चेहरे करिश्मा ठाकुर पर लगाया दांव !

23
Karishma Thakur-Photo Credit Social Media

कानपुर । कांग्रेस ने गोविंद नगर उपचुनाव के लिए अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया। जैसा संभावित था, वैसा ही हुआ। गोविंद नगर विधानसभा सीट के उपचुनाव में ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी ने युवा चेहरे पर दांव लगाते हुए करिश्मा ठाकुर को प्रत्याशी घोषित कर दिया है। करिश्मा वर्तमान में कांग्रेस के राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) की राष्ट्रीय महासचिव हैं।

Karishma Thakur-Photo Credit Social Media

पार्टी में पुराने नेताओं के इंकार पर उन्हें टिकट मिलना तय माना जा रहा था। करिश्मा को जन्म से ही राजनीतिक माहौल मिला। उनके पिता राजेश सिंह क्राइस्ट चर्च डिग्री कॉलेज छात्रसंघ अध्यक्ष रहे। इसके बाद उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर सरसौल विधानसभा और बसपा के टिकट पर कन्नौज सीट से लोकसभा का भी चुनाव लड़ा।

Karishma Thakur-Photo Credit Social Media

दिल्ली यूनिवर्सिटी से अपना राजनीतिक करियर करने के साथ एनएसयूआइ से जुडने के बाद प्रथम वर्ष में ही उन्होंने दिल्ली छात्रसंघ का चुनाव लड़ा और पहली बार में अच्छे वोटों से जीत हासिल कर महासचिव बनीं। वर्तमान में वह एआइसीसी सदस्य और एनएसयूआइ की राष्ट्रीय महासचिव हैं।

Karishma Thakur-Photo Credit Social Media

वह छह साल तक दिल्ली विश्वविद्यालय की राजनीति में सक्रिय रहीं। इस दौरान उन्होंने कानून की पढ़ाई पूरी की। छात्र राजनीति के बाद मुख्यधारा की राजनीति में यह उनका पहला कदम होगा।

Karishma Thakur-Photo Credit Social Media

शहर कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष हरप्रकाश अग्निहोत्री कहते हैं कि गोविंद नगर उपचुनाव के लिए पार्टी ने उन्हे टिकट दिया है। शहर कांग्रेस कमेटी और कांग्रेस कार्यकर्ता पूरी ताकत से उन्हे चुनाव लड़ाएगा।करिश्मा को पहली बार छात्रसंघ चुनाव का टिकट देने वाले रोहित चैधरी वर्तमान में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव व प्रदेश प्रभारी हैं।

टिकट मिलने पर प्रतिक्रिया देते हुए करिश्मा ने कहा कि पार्टी और प्रियंका गांधी के विश्वास पर खरा उतरने की कोशिश होगी। पार्टी ने युवा और महिला को टिकट दिया है। वर्तमान सरकार की नीतियों के कारण सबसे ज्यादा युवा और महिलाएं ही परेशान हैं। यह चुनाव न तो सरकार बनाने के लिए है न गिराने के लिए।

Karishma Thakur-Photo Credit Social Media

इस चुनाव में जनता अपना विधायक चुनेगी और वह अपने बीच के व्यक्ति को प्राथमिकता देगी। मुझे अपनी जीत पर पूरा विश्वास है। शनिवार को प्रियंका गांधी ने दिल्ली में बैठक बुलाई है। उसमें आगे की रणनीति तय होगी।