सुबह घर से ऑफिस को निकली युवती रहस्यमय ढंग से लापता, फिर वाटसएप पर आया हैरान करने वाला मैसेज

95
गोरखपुर में अपहृत युवती की तस्‍वीर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पूरे गोरखपुर में सनसनी है।

गोरखपुर। प्राइवेट स्कूल के शिक्षक की बेटी काजल लापता हो गई। काजल सुबह घर से ऑफिस को निकली थी और रास्ते से लापता हो गयी। फिर शाम में उसके नंबर से पिता को कुछ फोटो भेजे गए है जिसमें उसे बंधक बनाया गया है। मुंह बांधा हुआ है और सिर से खून निकलता दिख रहा है।

यह वाकया गोरखपुर जिले के  चौरीचौरा के हरिओम नगर कालोनी में रहने वाले अनिल पांडेय  चौरीचौरा के सेंट्रल एकेडमी में शिक्षक है। उनकी बेटी काजल भोपा बाजार स्थित एयरटेल कंपनी के ऑफिस में कार्यरत हैं। मंगलवार की सुबह उसने पिता को बताया कि वहां पर लोगों का बर्ताव ठीक नहीं है और आज वह हिसाब करने जा रही है। इसके बाद से ही वह घर नहीं लौटी। पुलिस तहरीर के आधार पर अपहरण का केस दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

लापता काजल का पता लगाने की अभी तक की सारी कवायद बेकार ही साबित हुई है। पुलिस की उम्मीद अब उसके मोबाइल काल डिटेल पर टिकी है। उसके मोबाइल फोन का करीब एक माह का काल डिटेल निकलवाकर पुलिस उन नंबरों का पता लगाने की कोशिश में है, जिन पर उसने इस अवधि में सर्वाधिक बार बात की थी।

उन्हीं नंबरों से उसके लापता होने के रहस्य से पर्दा उठने की पुलिस ने उम्मीद लगा रखी है। काजल के मोबाइल नंबर के साथ ही उसके कुछ करीबी रिश्तेदारों के मोबाइल फोन की भी काल डिटेल खंगाली जा रही है। इस बीच काजल के पिता ने उसका पता लगाने के लिए मुख्यमंत्री से एसआइटी गठित करने की मांग की है।

हालांकि पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टया फोटो में सिर पर जो खून दिखाई दे रहा है, वह देखने से केमिकल लग रहा है। हालांकि मुंह बंधा होने की वजह से पुलिस ने अपहरण का केस दर्ज कर लिया है। मोबाइल में आए फोटो में लोकेशन किसी जंगल की लग रही है। कुछ लोगों का कहना है कि लोकेशन कुसम्ही जंगल की है। हालांकि पुलिस अभी लोकेशन के बारे में छानबीन शुरू की है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही मामले का पर्दाफाश किया जाएगा।

मंगलवार को सुबह साढ़े नौ बजे काजल घर से निकल गई थी। उसका कत्ल कर दिए जाने की वाट्सएप पर सूचना आने के बाद पुलिस ने उसके मोबाइल फोन के टावर लोकेशन से उसे ट्रेस करने का प्रयास शुरू किया तो पता चला कि सुबह उसके घर से निकलने के कुछ मिनट बाद ही मोबाइल फोन बंद हो गया था। वाट्सएप संदेश भेजने में उसके नंबर से नेट का प्रयोग नहीं किया गया था, बल्कि हॉट स्पाट के जरिए किसी दूसरे पर चल रहे नेट से जोड़कर उसके नंबर से संदेश भेजा गया था। सीओ चैरीचैरा, सुमित शुक्ला ने बताया कि पिता की तहरीर पर केस दर्ज किया गया है। कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है। उम्मीद है जल्द ही मामले से पर्दा उठ जाएगा।

काजल के अपहरण के आरोप में अभियुक्त बनाए गए विजय पाठक ने ही उसे एयरटेल की दुकान में काम दिलाया था। वह खुद भी उसी की दुकान पर काम करता था। विजय के मुताबिक काजल की बड़ी बहन ने भी उससे दुकान में काम दिलाने को कहा था। इस संबंध में विजय ने दुकानदार से बात भी कर ली थी। इस बारे में जब काजल को पता चला तो उसने विजय पर बहन को वहां नौकरी न दिलाने का दबाव बनाना शुरू कर दिया। इसी बात को लेकर पहले विजय और काजल के बीच विवाद भी हुआ था।

Please follow and like us: