यूपी में फेक डिग्री के कारोबार का पर्दाफास, 20 हजार में बनाते थे डाक्टर व इंजीनियर

22
Fake degree doctor-engineer

मेरठ। एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश हुआ है जो बीस हजार रुपए में डॉक्टर व इंजीनियर की डिग्री थमाते थे. पुलिस ने इस गिरोह को पकड़ा है। बताया जा रहा है कि इन फर्जी डिग्री के आधार पर कई लोग नौकरी भी कर रहे हैं, इनकी जांच की जा रही है।

लंबे समय से गैंग मेरठ सहित गाजियाबाद, नोएडा, दिल्ली में डिग्री बनाकर बेच रही थी। उत्तराखंड बोर्ड, माध्यमिक शिक्षा परिषद बोर्ड, गुवाहाटी, ग्वालियर समेत कई राज्यों की डिग्री आरोपी बनाया करते थे. पुलिस ने इनके पास से एक ड्राइव बरामद की है।

उसमें उन लोगों के नाम हैं, जिन्हें डिग्री दी गई। मेरठ के एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि दीपक शर्मा पुत्र राजकुमार शर्मा निवासी ग्राम रोरी मोदीनगर स्कूल संचालक है। यह अपने साथी मनीष पुत्र प्रमोद कुमार निवासी डबल स्टोरी गोविंदपुरी के साथ मिलकर फर्जी डिग्री बनाने का धंधा करता था।

इसने शुक्रवार शाम को जेपी एकेडमी के सामने एक व्यक्ति को डिग्री देने के लिए बुलाया था। पुलिस ने उसी वक्त दोनों को दबोच लिया। आरोपियों ने बताया कि अनपढ़ लड़कों की शादी नहीं होती थी तो उनको डिग्री बनाकर दिया करते थे। पीएचडी से लेकर बीबीएए एमबीए समेत कई कोर्स की डिग्री बना देते थे। पुलिस इनसे गहनता से पड़ताल कर रही है।