दारोगा जी की बेशर्मी देखिए, टाइम पास के लिए मांगी लड़की

30
आशिक मिजाज दारोगा की आशिकी का भूत एसपी ने उतार दिया

पटना। एक आशिक मिजाज दारोगा की करतूतों का खुलासा एक पीड़िता ने किया और बताया कि तत्कालीन थानाध्यक्ष उनके घर आते रहते थे। दूसरे के माध्यम से लड़की की व्यवस्था कराने की बात कहते थे। इसके बाद पीड़िता ने दारोगा गोपींद्र सिंह के मोबाइल पर बातचीत के रिकॉर्डिंग के साथ आईजी को पत्र भेजकर न्याय की गुहार लगाई थी।

मधेपुरा जिले के चैसा थाने के दारोगा गोपींद्र सिंह की काली करतूतों का पता जब एसपी संजय कुमार को चला तो उन्होंने दारोगा गोपींद्र सिंह को सस्पेंड कर लाइन हाजिर किया है। गोपींद्र को एक केस के लिए लड़की, लूट की बाइक और पैसे चाहिए थे। नहीं दिए गए तो उन्होंने एक परिवार पर 10 महीने में 5 केस ठोक दिया था।

मधेपुरा पुलिस अपने कारनामों से सुर्खियों में रहती है। नया मामला चैसा थाना के एक दारोगा गोपींद्र सिंह का है। जिनका ऑडियो वायरल होने पर पुलिस की असलियत सामने आ गई है। ऑडियो में दारोगा टाइम पास के लिए लड़की मांग रहे हैं। व,हीं किसी को फंसाने के लिए हथियार की मांग भी की जा रही थी।

यह ऑडियो दारोगा व चंद्रभूषण यादव के बीच हुए बातचीत का है। मालूम हो कि चंद्रभूषण यादव पर एक केस दर्ज होने के बाद उसने ऑडियो वायरल किया है। ऑडियो वायरल होने के बाद एसपी ने संज्ञान लेते हुए दारोगा को निलंबित कर लाइन हाजिर कर दिया है। एसपी संजय कुमार ने बताया कि वायरल ऑडियो उनके संज्ञान में आने के बाद दारोगा को निलंबित कर लाइन हाजिर कर दिया गया है।

इस ऑडियो को माने तो घूस की राशि उदाकिशुनगंज के एसडीपीओ तक भी पहुंची। दारोगा जी की बेशर्मी देखिए, टाइम पास के लिए लड़की मांगने की बात को स्वीकार करते हुए वे कहते हैं कि मजाक में कहे थे। उन्हें कौन समझाए कि अवैध कट्घ्टा और गोली किसलिए चाहिए थे। रसलपुर धुरिया वार्ड- संख्या नौ निवासी चंद्रभूषण यादव और दारोगा गोपींद्र सिंह के बीच मोबाइल कॉल रिकॉर्ड के अंश।