साढ़े 15 हजार किसानों को लखनऊ में मिलेगी पेंशन , इस नंबर पर लें जानकारी

83

छोटे और मझोले किसानों को अब बुढ़ापे में पैसों के लिए दूसरों पर निर्भर नहीं रहना होगा। एक छोटे से अंशदान से लघु व सीमांत किसानों को 60 वर्ष बाद 3000 रुपए महीने की पेंशन का लाभ मिल सकेगा। इसके लिए केन्द्र सरकार की प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना का शुभारंभ राजधानी में हो गया है। पहले चरण में 15,400 किसानों का पंजीकरण करके उन्हें पेंशन का कार्ड दिया जाएगा।

55 से 200 रुपए तक का अंशदान: योजना  के तहत 18 से 40 वर्ष के लघु व सीमांत किसान पात्र होंगे।  किसानों को हर माह 55 से लेकर 200 रुपए तक अंशदान देना होगा।  अगर 18 वर्ष की आयु का युवा किसान योजना के तहत आवेदन करता है तो उसके बैंक खाते से हर माह मात्र 55 रुपए कटेगा। वहीं 40 वर्ष के किसान को हर माह 200 रुपए कि किश्त देनी होगी। योजना के तहत जितनी किश्त किसान की होगी उतना ही पैसा केन्द्र सरकार भी जमा करेंगी।

मृत्यु पर पत्नी को 50 फीसदी पेंशन: इस पेंशन स्कीम में अगर 60 वर्ष बाद पति की मौत हो जाती है तो पेंशन योजना का लाभ उसकी पत्नी को मिलेगा।  पारिवारिक पेंशन के रूप में पत्नी को पेंशन की 50 फीसदी रकम हर माह मिलेगी।

सीएससी पर होगा रजिस्ट्रेशन
योजना के तहत पात्र किसानों को पेंशन योजना का लाभ पाने के लिए पहले सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर) पर पंजीकरण कराना होगा। पंजीकरण बस एक अगस्त को किसान का नाम खतौनी में कृषि भूमि दर्ज होनी चाहिए। रजिस्ट्रेशन के लिए किसान को आधार, बैंक पास बुक, खतौनी की कॉपी लानी होगी।

इनसे ले अधिक जानकारी
योजना की जानकारी व पंजीकरण के लिए किसान सीएससी के जिला प्रबंधक विभाष श्रीवास्तव 8707768033 व अजीत अवस्थी  8318588061 से सम्पर्क कर सकते हैं।

 

Please follow and like us: