यह सबका दायित्व की हिंसा ना हो महिलाओं के साथ : सीएम योगी

23

रक्षाबंधन के अवसर पर गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को विभिन्न स्कूलों की छात्राओं ने राखी बांधी। मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित इस कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने छात्राओं को बतौर उपहार स्कूल बैग, पेंसिल बाक्स तथा पानी की बोतल भेंट किए। उन्होंने कहा कि महिलाओं पर घर या बाहर कहीं भी हिंसा ना हो यह हम सभी का सामूहिक दायित्व है।

मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में स्वतंत्रता दिवस तथा रक्षाबंधन पर्व पर प्रदेश के लोगों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि हम सभी को बिना किसी भेदभाव के आपस में जुड़कर और हर व्यक्ति को मुख्यधारा से जोड़कर आगे बढ़ने का संकल्प लेना चाहिए। समाज को जोड़ने में भारत की परंपरा का बड़ा योगदान है। रक्षाबंधन का पर्व हजारों वर्ष की परंपरा का पर्व है। रक्षाबंधन के पर्व पर बांधी जाने वाली राखी (रक्षा) केवल सूत मात्र नहीं है, बल्कि संकल्प है। यह पर्व यह भी प्रमाणित करता है कि भारतीय संस्कृति की जड़ें अत्यन्त गहरी हैं।

उन्होंने कहा कि उत्तर से दक्षिण और पूरब से पश्चिम तक भारत एक है। हमारी परंपरा में नारी के सम्मान को महत्वपूर्ण और प्रगति के लिए आवश्यक माना गया है। नारी गरिमा के लिए सामूहिक प्रयास आवश्यक है। यह हम सभी का सामूहिक दायित्व है कि नारी के विरुद्ध घर या बाहर कहीं पर हिंसा नहीं हो।
जिलाधिकारी लखनऊ कौशलराज शर्मा ने अतिथियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। अपर मुख्य सचिव सूचना व गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह, सूचना निदेशक शिशिर आदि उपस्थित थे।