इनामी शूटर आए थे BJP विधायक सुशील सिंह की हत्या करने, गिरफ्तारी के बाद सामने आया चौंकाने वाला सच

110

चंदौली जिले में सैयदराजा के भाजपा विधायक सुशील सिंह और उनके दो निकटस्थ लोगों की हत्या करने आए तीन शूटरों को एसटीएम ने शुक्रवार को दबोच लिया। तीनों को वरुणापार टकटकपुर स्थित गैस गोदाम के पास हल्की मुठभेड़ के पास पकड़ा गया। गिरफ्तार अपराधियों में प्रयागराज का एक लाख का एक इनामी भी है। एसटीएफ के अनुसार जिले के चौबेपुर क्षेत्र के श्रीकंठपुर निवासी अमरनाथ चौबे उर्फ कक्कू ने उन तीनों शूटरों को विधायक व अन्य लोगों की हत्या के लिए बुलाया था।

एसटीएफ ने बस्ती के मूल निवासी एवं एक लाख के इनामी शिवप्रकाश तिवारी उर्फ सोनी तिवारी उर्फ धोनी तिवारी, प्रयागराज में जसरा के मनीष केसरवानी और चकराना के अंजनी सिंह को गिरफ्तार किया है। इनके पास से .32 बोर की एक देशी पिस्टल, .37 बोर के तीन कारतूस, .32 बोर के दो खोखा कारतूस, .315 बोर का दो तमंचा, दो जिन्दा कारतूस और तीन मोबाइल फोन बरामद हुए हैं।

एसटीएफ के मुताबिक तीनों शूटर भाजपा विधायक सुशील सिंह के अलावा अजय मरदह और सनी सिंह की हत्या करने के इरादे से जिले में आए थे। पूछताछ में धोनी तिवारी ने बताया कि प्रयागराज के अपराधी छात्र सुमित शुक्ला (उसकी हत्या हो चुकी है) के जरिए उसका संबंध श्रीकंठपुर के अमरनाथ चौबे उर्फ कक्कू से हुआ था। कक्कू के सहयोग से वह बिहार के हाजीपुर, पटना आदि स्थानों पर छुपकर रहता था।

कक्कू के पिता एवं रेलवे के बड़े ठेकेदार रहे रामबिहारी चौबे की कुछ साल पहले श्रीकंठपुर स्थित उनके आवास पर ही गोली मारकर हत्या कर दी गई  थी। उसमें कक्कू ने विधायक सुशील सिंह व अजय मरदह पर ही शक जाहिर किया था। इस हत्याकांड में अजय मरदह की गिरफ्तारी भी हुई थी।

 

Please follow and like us: