उन्नाव कांड: अब आया सामने रेप पीड़िता के वकील का लेटर, DM से मांगा था हथियार का लाइसेंस

19

उन्नाव रेप पीड़िता के साथ उत्तर प्रदेश के रायबरेली में रविवार को हुए एक्सीडेंट के बाद जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है और उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है। वहीं इस मामले में पीड़िता के बाद उसके वकील का लेटर सामने आया है। इस पत्र में उसने जिला मजिस्ट्रेट (डीएम) से तत्काल हथियार देने की मांग की थी।

उन्नाव रेप केस की पीड़िता के वकील महेंद्र सिंह ने 15 जुलाई को उन्नाव जिले के डीएम को पत्र लिखकर जल्द हथियार का लाइसेंस देने की मांग की थी। इस पत्र में कहा गया है कि मुझे आशंका है कि भविष्य में मेरी हत्या हो सकती है।

Twitter पर छबि देखें

 

चीफ जस्टिस को उन्नाव रेप पीडिता ने लिखा था खत

उन्नाव रेप केस की पीड़िता ने इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई को भी खत लिखा था। यह खत 12 जुलाई 2019 को उन्नाव रेप पीड़िता की तरफ से लिखा गया है। इसमें यह कहा गया है- “उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई कीजिए जो हमें धमका रहे हैं।” पत्र में आगे लिखा गया है- “लोग मेरे घर आते हैं, धमकाते हैं और केस वापस लेने की बात कर ये कहते हैं कि ऐसा नहीं किया तो पूरे परिवार को फर्जी केस में जेल में बंद करवा देंगे।”

विधायक सेंगर समेत 10 लोगों पर हत्या का मुकदमा  
उन्नाव रेप पीड़िता की कार में ट्रक की टक्कर लगने के मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत 10 लोगों के खिलाफ हत्या, जानलेवा हमला और साजिश का मुकदमा दर्ज कराया गया है। कुलदीप सेंगर दुष्कर्म कांड में आरोपी भी हैं। ट्रक चालक,, मालिक गिरफ्तार: प्रदेश के एडीजी राजीव कृष्ण के अनुसार यह मुकदमा रायबरेली जेल में बंद पीड़िता के चाचा की तहरीर पर रायबरेली के गुरुबख्शगंज थाने में लिखा गया है। रविवार को पीड़िता अपनी चाची, मौसी और वकील महेन्द्र सिंह के साथ कार से चाचा से ही मिलने जा रही थी। पुलिस ने ट्रक चालक आशीष कुमार के अलावा ट्रक मालिक फतेहपुर के देवेन्द्र किशोर पाल और क्लीनर बांदा निवासी मोहन श्रीवास को भी सोमवार को गिरफ्तार कर लिया है।