दिन भर पुलिस के कदम ताल करने के बाद शाम को 12 लाख की टप्पेबाजी

21

फर्रुखाबाद। दोपहर बाद से पुलिस जगह-जगह दंगा नियंत्रण की रिहर्सल करती दिखी। खुद जिले के कप्तान डॉ० अनिल मिश्रा पुलिस को दंगा नियंत्रण के टिप्स देते दिखे। लेकिन शाम होते होते अपराधी सक्रिय हो गये। उन्होंने सराफा व्यापारी का जेबरात व नकदी से भरा झोला साफ कर दिया। घटना के सम्बन्ध में पुलिस को तहरीर दी गयी है।

शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला नुनहाई निवासी मुकेश वर्मा पुत्र सियाराम ने कोतवाली में दी तहरीर में कहा है कि उसकी मऊदरवाजा एसबीआई के निकट मंगला के नाम से सराफा की दुकान है। गुरुवार शाम मुकेश लगभग 7 बजे अपने घर किसी काम से आगे। दुकान बंद कर उनका पुत्र दीपक वर्मा लगभग 7.30 बजे जेबरात व नकदी से भरा झोला बाइक की डिग्गी में रखकर ला रहा था। शहर कोतवाली क्षेत्र के पक्के पुल चैराहे के निकट पंडित जी परचून की दुकान पर कुछ घरेलू सामान दीपक ने खरीदा। जैसे ही वह सामान खरीद कर बाइक के पास आया तो डिग्गी खुली पड़ी थी। उसमे से झोला गायब था। झोले में 300 ग्राम सोना, 8 किलो चांदी व 8 हजार की नकदी गायब हो गयी। जिसकी लगभग कीमत 12 लाख रूपये है। तिकोना चैकी इंचार्ज मुकेश कुमार ने बताया कि घटना उनके संज्ञान  में नही आयी है। यदि तहरीर दी है तो उनकी जाँच के बाद मुकदमा दर्ज किया जायेगा।