सरकार मंदिर नहीं बना सकती तो हमें बताए: राजपूत करणी सेना

9

लखनऊ। राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के लोगों ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राम मंदिर मुद्दे को लेकर केंद्र और राज्य सरकार पर निशाना साधा है। राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष वीर प्रताप सिंह ने कहा कि अगर प्रदेश व राज्य सरकार मंदिर नहीं बना सकती तो हमें बताएं, करणी सेना वहां 1-1 ईंट ले जाकर राम मंदिर का निर्माण करेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार दो बार राम मंदिर के नाम पर केंद्र में अपनी सरकार बना चुकी है, लेकिन सत्ता में आने के बाद राम मंदिर को भूल जाती है। अब उनको वर्ष 2024 में फिर राम मंदिर की याद सताएगी।
राम मंदिर के आस पास इतनी गंदगी है, जिस पर सरकार ध्यान नहीं देती अगर वह खुद नहीं कर पाती तो अयोध्या में राम मंदिर की साफ सफाई की जिम्मेदारी करणी सेना को सौंप दें। उन्होंने कहा कि हिंदू ह्रदय सम्राट महापुरुष महाराणा प्रताप की मूर्ति प्रदेश के प्रत्येक जिले के मुख्यालय के चैराहों पर लगाई जाए और इस चैराहे को महाराणा प्रताप चैराहा घोषित किया जाए। साथ ही बच्चों को महाराणा प्रताप का इतिहास पढ़ाना समस्त विद्यालय में अनिवार्य किया जाए। आज उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि कहां गया रोजगार का वादा। पूरे प्रदेश में सावन के महीने में मंदिरों के पास बिकने वाली मांस मदिरा की दुकानों पर रोक लगा दी जाए। सभी स्कूलों में प्रार्थना हिंदी में कराई जाए।