सीबीआई जल्द करेगी यूपी के वक्फ बोर्डों के घोटालों की जांच

14

केन्द्रीय गृहमंत्री अमितशाह ने शिया धर्मगुरू और लखनऊ के इमाम-ए-जुमा मौलाना कल्बे जव्वाद को आश्वस्त किया है कि उत्तर प्रदेश में शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड में वक्फ सम्पत्तियों के घोटालों की जांच जल्द ही सीबीआई से करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि इस बाबत तैयारियां पूरी हो चुकी हैं।

मौलाना जव्वाद मंगलवार को नयी दिल्ली में संसद भवन में केन्द्रीय गृह मंत्री के कार्यालय कक्ष में उनसे मिले थे। उनके साथ सफीपुर उन्नाव के मौलाना हसनैन बकाई और वक्फ बचाओ आन्दोलन के अध्यक्ष शमील शम्सी भी थे।
बातचीत के दौरान मौलाना जव्वाद ने केन्द्रीय गृह मंत्री के समक्ष देश व प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में बढ़ रही भीड़ हिंसा की घटनाओं का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने गृहमंत्री से कहा कि इन घटनाओं से देश के मुसलमानों में खौफ बढ़ रहा है। साथ ही दुनिया में भारत की बदनामी भी हो रही है।

वक्फ बचाओ आन्दोलन के अध्यक्ष शमील शम्सी के अनुसार र गृहमंत्री ने मौलाना जव्वाद से कहा कि देश के हर नागरिकी सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार की है और भीड़ हिंसा की जितनी भी घटनाएं सामने आयी हैं उनमें कार्रवाई की जा रही है। ऐसे मामलों में दोषियों को कतई बख्शा नहीं जाएगा। गृहमंत्री ने यह भी कहा कि ऐसी घटनाएं पिछली सरकारों में भी होती रही हैं मगर अब इन घटनाओं को जानबूझ कर कुछ ज्यादा ही उछाला जा रहा है।

शमील शम्सी ने बताया कि मौलाना जव्वाद ने वर्ष 2013 में पुराने लखनऊ के वजीरगंज इलाके में हुए दंगे में शिया समुदाय के लोगों को जानबूझ कर फंसाए जाने का मामला भी उठाया। मौलाना जव्वद ने कहा कि प्रदेश की पिछली सरकार के दबाव में इस मामले में शिया समुदाय के लोगों पर साजिशन फर्जी मुकदमे दर्ज किये गये। अब इस मामले की जांच कर रहे अधिकारी भी निष्पक्ष कार्रवाई नहीं कर रहे। गृहमंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया कि वह इस मामले को स्वयं देखेंगे।