जलकल जीएम के दफ्तर में चलीं कुर्सियां भाजपा का फूटा गुस्सा

46

वाराणसी शहर में सीवर समस्याओं से आजिज आ चुके सभी दलों के पार्षदों ने मंगलवार को जलकल के भेलूपुर स्थित जीएम कार्यालय पर जमकर विरोध प्रदर्शन किया। कांग्रेस, सपा व निर्दल पार्षदों ने मेन गेट पर बेमियादी धरना शुरू कर दिया है तो वहीं भाजपा पार्षदों ने जीएम के दफ्तर में कुर्सियां उछालीं और हंगामा किया।

सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस की मौजूदगी में भाजपा पार्षदों ने जलकल के जीएम नीरज गौड़ को सीवर समस्या के समाधान के लिए एक हफ्ते की मोहलत दी है जबकि सपा व कांग्रेस के पार्षद समस्या के स्थायी समाधान पर अड़े हैं। सभी पार्षदों का एक स्वर से कहना था कि जलकल से लगातार मिल रहे आश्वासनों से अब समस्याओं का समाधान नहीं होने वाला है।

शहर के लगभग सभी मोहल्लों में कहीं सीवर ओवरफ्लो, कहीं बैक फ्लो तो कहीं उसके चोक होने से गंदगी सड़कों, गलियों में फैल रही है। इसके चलते घरों में प्रदूषित जलापूर्ति की शिकायतें भी बढ़ी हैं। एक माह से समस्या के साथ लोगों की शिकायतें भी बढ़ गई हैं। इससे क्षुब्ध सभी दलों के पार्षद मंगलवार सुबह 11 बजे के आसपास जीएम के दफ्तर पहुंच गए।

भाजपा के 35 से अधिक पार्षद सीधे जीएम के कक्ष में पहुंचे जहां जलकल के सचिव रघुवेन्द्र कुमार भी पहुंचे। वहां बातचीत में जलकल कर्मचारियों व ठेकेदारों की लापरवाही का मुद्दा उठा। उसी दौरान भाजपा पार्षद आपे से बाहर हो गए और कुर्सियां उठाकर फेंकने लगे। माहौल गर्म होता देख जीएम ने पुलिस बुला ली।  जीएम दफ्तर में विनोद भारद्वाज, सुशील गुप्ता, विकास चौधरी, सिंधु सोनकर, विजय श्रीवास्तव, बागहाड़ा से निर्दल प्रत्याशी राकेश जायसवाल, मनीष यादव, लकी वर्मा, शंकर साहू आदि मौजूद थे।

हमें ठोस समाधान चाहिए
बेमियादी धरने पर बैठे कांग्रेस-सपा व निर्दल पार्षदों का कहना है कि अधिकारी कई बार आश्वासन दे चुके हैं लेकिन अब हमें ठोस समाधान चाहिए। हल मिलने तक धरना जारी रहेगा। कांग्रेस पार्षद सीताराम केशरी ने कहा कि शहर के तमाम इलाकों में एक माह से सीवर समस्या ज्यादा गहरा गई है। धरने पर अनिल शर्मा, अफजाल अंसारी, असलम खां, बेलाल अंसारी, ओकास अंसारी, विनय सादेजा, अजीमुर्रहमान अंसारी, गुलशन अली आदि मौजूद थे।

Please follow and like us: