रेलगाडिय़ों में मालिश सेवा के प्रस्ताव को रेलवे ने लिया वापस

16

मुंबई ।  विभिन्न हलकों से आलोचना के बाद पश्चिमी रेलवे (डब्ल्यूआर) ने शनिवार को इंदौर से चलनेवाली ट्रेनों में सिर और पांव मालिश की सुविधा मुहैया कराने का अपना विचित्र प्रस्ताव रद्द कर दिया है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। डब्ल्यूआर के मुख्य प्रवक्ता रविंदर भाकर ने कहा कि सिर और पांव मालिश सेवा की शुरुआत रतलाम खंड द्वारा की गई है।

भाकर ने कहा, जैसे ही इस सेवा की जानकारी उच्च अधिकारियों को मिली, यह फैसला किया गया है कि रेलगाडिय़ों में मालिश सेवा के इस प्रस्ताव को वापस ले लिया जाए। यात्री सुविधाओं में सुधार के लिए कई अन्य प्रस्ताव दिए गए हैं, जिन पर अब डब्ल्यूआर मालिश सेवा के बदले क्या किया जाए, इस पर विचार कर रहा है।

उल्लेखनीय है कि इस प्रस्ताव के सामने आने पर ही इसका विरोध शुरू हो गया था। पूर्व लोकसभा स्पीकर और बीजेपी सांसद सुमित्रा महाजन ने तो रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर कहा था कि महिला यात्रियों के सामने इस तरह की सर्विस ऑफर करना भारतीय संस्कृति के खिलाफ है।

इससे पहले इंदौर से बीजेपी के नवनियुक्त एमपी शंकर लालवानी ने भी इस सर्विस को स्तरहीन करार देते हुए सवाल उठाए थे। महाजन और लालवानी दोनों ने इस फैसले पर सवाल उठा दिए हैं।