आखिरकार ममता बनर्जी झुकीं, डॉक्टरों डॉक्टरों की सभी मांगें मानी, डॉक्टरों से हड़ताल समाप्त करने की अपील की

40
Finally_Mamta_Banerjee_accepted_all_the_demands_of_doctors

कोलकाता । पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को एक बार फिर राज्य सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों के हड़ताली डॉक्टरों से हड़ताल समाप्त करने और चिकित्सा सेवा सामान्य करने की अपील की। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए सभी जरूरी उपाय करने के लिए तैयार है और हड़ताली डॉक्टरों के खिलाफ कोई प्रशासनिक कार्रवाई नहीं की जाएगी।

ममता ने प्रेस कांफ्रेंस करते हुए कहा, डॉक्टरों के साथ मारपीट दुर्भाग्यपूर्ण है। हमारी सरकार मामला सुलझाने का हर संभव प्रयास कर रही है। हमने डॉक्टरों से बात करने की कोशिश की, लेकिन वादे के बावजूद डॉक्टर बैठक में नहीं आए। इस हड़ताल की वजह से गरीबों का इलाज नहीं हो पा रहा है। कम से कम अस्पताल में इमर्जेंसी सेवाएं जारी रखनी चाहिए। हम राज्य में एस्मा एक्ट लागू नहीं करना चाहते हैं।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने डॉक्टरों पर आरोप लगाया है कि सरकार के बुलाने पर भी वो बातचीत के लिए नहीं आ रहे जबकि सरकार ने उनकी सभी मांगे मान ली हैं। सीएम ममता ने कहा कि उनकी सरकार हड़ताल के खिलाफ कोई भी सख्त कदम नहीं उठाने जा रही है। इस बीच खबर है कि पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चि_ी भेजकर डॉक्टरों की सुरक्षा का मजबूत भरोसा देकर डॉक्टरों का विश्वास जीतने की अपील की है।

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में एक मरीज के परिजनों ने दो डॉक्टरों पर कथित तौर पर हमला कर दिया, जिसमें वे गंभीर रूप से घायल हो गये, जिसके बाद मंगलवार से जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर हैं। मरीज की मौत अस्पताल में हो गई थी।