मोदी की नई कैबिनेट में नहीं मिली जगह इन पूर्व मंत्रियों को

137

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ 57 अन्य मंत्रियों ने भी गुरुवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में शपथ ली। हालांकि मोदी सरकार-1 के कई कैबिनेट मंत्रियों को नई सरकार में जगह नहीं मिली है। बीजेपी के नेताओं मेनका गांधी, सुरेश प्रभु, जेपी नड्डा, राधा मोहन सिंह को इस बार मंत्री नहीं बनाया गया। वरिष्ठ नेता मेनका गांधी के बारे में ऐसा कहा जा रहा है कि वह लोकसभा की प्रोटेम स्पीकर हो सकती हैं।

कैबिनेट मंत्रियों के अलावा राज्य मंत्री रैंक के भी राज्यवर्धन सिंह राठौड़, महेश शर्मा, जयंत सिन्हा, एसएस अहलुवालिया, विजय गोयल, के. अल्फोंस, रमेश जिगाजिनागी, राम कृपाल यादव, अनंत कुमार हेगडे़, अनुप्रिया पटेल, सत्यपाल सिंह को भी मंत्रिपरिषद में शामिल नहीं किया गया है। इन पूर्व मंत्रियों में से के. अल्फोंस चुनाव हार गए जबकि बाकी जीतकर संसद पहुंचे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नए मंत्रिमंडल में पूर्व दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा को भी शामिल नहीं किया गया है। सिन्हा गाजीपुर संसदीय क्षेत्र से चुनाव हार गए हैं। उनको बहुजन समाज पार्टी के अफजाल अंसारी ने शिकस्त दी। वहीं, अरुण जेटली, सुषमा स्वराज और उमा भारती भी इस बार कैबिनेट में नहीं हैं। जेटली ने स्वास्थ्य का हवाला देते हुए सरकार में शामिल न किए जाने का अनुरोध किया था जबकि स्वराज और भारती ने लोकसभा चुनाव ही नहीं लड़ा था।

पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी को 17वीं लोकसभा की प्रोटेम स्पीकर बनाया जा सकता है। मेनका संसद के निचले सदन में आठवीं बार सांसद चुनकर आई हैं और सबसे वरिष्ठ भी हैं। वह नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली पहली NDA सरकार में केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री थीं।

Please follow and like us: