पश्चिम बंगाल में फिर हिंसक झड़प , बीजेपी बोली- नरसंहार करा सकती है ममता बनर्जी

38

कोलकाता  ।  लोकसभा चुनाव के सातवें चरण के मतदान के दौरान पश्चिम बंगाल में एक बार फिर हिंसा देखने को मिली है। डायमंड हार्बर लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार निलंजन रॉय की कार पर हमला हुआ है। बंगाल में पिछले 6 चरणों के दौरान भी टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प हुई थी। जाधवपुर और बसीरहाट में बीजेपी ने टीएमसी पर वोटिंग में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। इस बीच बीजेपी ने कहा कि टीएमसी कार्यकर्ताओं को हार दिख रही है, इसलिए बौखलाहट में हिंसा की जा रही है। दूसरी तरफ टीएमसी ने उलटे बीजेपी पर वार करते हुए कहा है कि वह राज्य में शांतिपूर्ण चुनाव नहीं चाहती।

केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि नतीजे पक्ष में न रहने पर ममता बनर्जी नरसंहार करा सकती हैं। उन्होंने कहा, ‘बंगाल की सीएम शुरू से धमकी देती आर रही हैं। इसलिए हमें डर है कि आज पोलिंग खत्म होने के बाद से टीएमसी का नरसंहार उधर शुरू हो सकता है। इसलिए हमारी मांग है कि चुनाव आचार संहिता तक केंद्रीय बलों को वहीं रोका जाए।’

लोकसभा चुनाव के सातवें और आखिरी चरण में पश्चिम बंगाल की 9 सीटों पर वोटिंग जारी है। पश्चिम बंगाल में आखिरी चरण भी हिंसा से अछूता नहीं है। डायमंड हार्बर लोकसभा सीट से ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे बीजेपी कैंडिडेट निलांजन रॉय की कार पर हमला हुआ है। यहां के डोंगरिया इलाके में रॉय की कार पर हमला हुआ।

15  सीटों पर दिग्गजों का रण

हाजरा ने कहा, ‘टीएमसी के गुंडों ने बीजेपी के मंडल अध्यक्ष और ड्राइवर की पिटाई की है। कार पर हमला किया है। हमने अपने 3 पोलिंग एजेंटों को बचाया है। टीएमसी के गुंडे 52 बूथों पर गड़बड़ी कर रहे हैं। लोग बीजेपी को वोट डालने को उत्सुक हैं लेकिन वे लोगों को वोट नहीं डालने दे रहे हैं।’

पश्चिम बंगाल  में महिला मतदाताओं ने बूथ कैप्चरिंग का आरोप लगाया है। यहां के मोगराहाट में कई महिलाएं हाथों में डंडे लेकर सड़क पर उतरीं और बूथ पर कब्जे का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन किया। कोलकाता दक्षिण संसदीय सीट की कसबा विधानसभा में दो पोलिंग बूथों पर मतदाताओं की पिटाई की घटना सामने आई है। वहीं, बसीरहाट लोकसभा सीट से बीजेपी कैंडिडेट सायंतन बसु ने आरोप लगाया है कि टीएमसी के कार्यकर्ता लोगों को वोट देने से रोक रहे हैं। बसु का आरोप है कि 100 लोगों को वोट डालने से रोका गया है। हम उन्हें मतदान के लिए लेकर जाएंगे।