योगी सरकार कानपुर और बनारस में भी Police Commissioner System लागू करने की तैयारी में, थानेदारों पर लगेगा अंकुश, बढ़ेगी निगरानी  

167
योगी सरकार कानपुर और बनारस में भी Police Commissioner System लागू करने की तैयारी में, थानेदारों पर लगेगा अंकुश, बढ़ेगी निगरानी  
yogi-file photo

लखनऊ : जिन शहरों की आबादी दस लाख से अधिक है, वहां पर पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू होनी चाहिए। कानपुर की आबादी केवल शहर में तकरीबन 50 लाख है इसलिए यहां पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू होने से अपराध नियंत्रण करने में मदद मिलेगी। इसका सीधा लाभ जनता को मिलेगा। पुलिसिंग बेहतर होगी। प्रदेश में क़ानून व्यवस्था को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार लगातार बड़े फैसले ले रही है। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश में जल्द दो नए पुलिस कमिश्नरेट बनेंगे। ये नए पुलिस कमिश्नरेट वाराणसी और कानपुर में होंगे। इस बारे में कैबिनेट के जरिए जल्द प्रस्ताव लागू होगा।

बता दें कि, नोएडा और लखनऊ में पहले से ही पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम है। यानि इसी के साथ अब यूपी में चार पुलिस कमिश्नरेट होंगे। वाराणसी और कानपुर में दो पुलिस कमिश्नरेट में एडीजी स्तर के अधिकारी पुलिस कमिश्नर होंगे।

पुलिस आयुक्त शहर में उपलब्ध स्टाफ का उपयोग अपराधों को सुलझाने, कानून और व्यवस्था को बनाये रखने, अपराधियों और असामाजिक लोगों की गिरफ्तारी, ट्रैफिक सुरक्षा आदि के लिये करता है। इसका नेतृत्व डीसीपी और उससे ऊपर के रैंक के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा किया जाता है।

Please follow and like us: