चार्जशीट के 4000 पन्नों में राजस्थान की घूसखोर महिला SDM की घूसखोरी की कहानी, हर किमी के लिए मॉंगे ₹1 लाख

96
चार्जशीट के 4000 पन्नों में राजस्थान की घूसखोर महिला SDM की घूसखोरी की कहानी, हर किमी के लिए मॉंगे ₹1 लाख
चार्जशीट के 4000 पन्नों में राजस्थान की घूसखोर महिला SDM की घूसखोरी की कहानी, हर किमी के लिए मॉंगे ₹1 लाख

ACB कोर्ट में दायर की गई 4 हजार पन्नों की चार्जशीट के मुताबिक रिश्वत के लिए बांदीकुई SDM रही पिंकी मीणा ने हाईवे के लिए जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया ठप कर दी। NHAI ने इस बारे में पिंकी मीणा को लंबित मामलों का भुगतान करने का आग्रह किया। इस पर जवाबी पत्र में मीणा ने लिखा- आपको न्यायालय प्रक्रिया की जरूरी जानकारी नहीं है। इस तरह उसने NHAI को ही धमका दिया। चार्जशीट में बताया गया है कि हाइवे बनाने वाली कंपनियों से प्रति किलोमीटर 1 लाख रुपए की घूस पिंकी मीणा ने माँगी थी। पहली क़िस्त में उसने 6 लाख रुपए रिश्वत माँगी थी, जिसे बाद में बढ़ाकर 10 लाख रुपए कर दिया।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार पिंकी मीणा को पता चला था कि पड़ोस में ही स्थित दौसा सेक्शन के SDM पुष्कर मित्तल ने 10 लाख रुपए माँगे थे, इसीलिए उसने भी रकम बढ़ा दी। चार्जशीट ACB कोर्ट में दायर की गई है। कंपनियों पर घूस के लिए दबाव बनाने के लिए पिंकी ने किसानों का मुआवजा भी अटका रखा था।

NHAI के भारतमाला प्रोजेक्ट के लिए भूमि अधिग्रहण का जिम्मा उसे ही मिला था। प्रशासन को किसानों को मुआवजा देने के लिए धनराशि भी दी गई थी। भूमि-अधिग्रहण होने के बाद उसे कंपनियों को सौंपना था और किसानों को मुआवजा दिलाना था। दोनों प्रक्रिया पिंकी मीणा के कारण अटकी रही। किसानों को भड़काने के लिए उसने मुआवजा नहीं दिया गया, ताकि कंपनियों का काम शुरू नहीं हो।

इसी के लिए 1 लाख प्रति किमी की रिश्वत माँगी गई। काम बार-बार अटकने के कारण ही कंपनी ने शिकायत की।इसमें पिंकी मीणा के अलावा IPS मनीष अग्रवाल और SDM पुष्कर का भी नाम लिया गया। पिंकी हाई कोर्ट से जमानत लेने में कामयाब रही हैं। पुष्कर अभी जेल में ही है। मनीष बहन की शादी के लिए अंतरिम जमानत पर बाहर है। पिंकी इतनी चालाक थी कि रिश्वत की रकम भी खुद न लेकर कंपनी को अमित नाम के कर्मचारी को सौंपने को कहा था।

ACB (भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो) ने सबूत के रूप में डिजिटल टेप रिकॉर्डर के कंटेंट पेश किया है। हाइवे कंपनी शिकायत का मन बना चुकी थी, इसीलिए उसने रुपए दिए ही नहीं। अमित और पूर्व SDM को आमने-सामने बिठा कर पूछताछ की गई, जिसमें ये राज़ खुला। पिंकी मीणा की तीन ऐसी बातचीत टेप की गई है, जिसमें उसने रिश्वत माँगी है। जयपुर चिथवाड़ी की रहने वाली पिंकी मीणा ने 2016 में प्रशासनिक आयोग की परीक्षा पास की थी।

Please follow and like us: