Patanjali Corona Medicine Coronil Launch : केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री की मौजूदगी में बाबा रामदेव ने लॉन्च की नई कोरोना की दवा ‘कोरोन‍िल’-बोले, WHO सर्टिफाइड है

योगगुरू Baba Ramdev ने Corona Virus की आयुर्वेदिक दवा लॉन्च की है, और दवा के रिसर्च पेपर की बुक लॉन्च की। पतंजलि का दावा है कि नई दवा साक्ष्यों पर आधारित है।

202
Patanjali Corona Medicine Coronil Launch : केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री की मौजूदगी में बाबा रामदेव ने लॉन्च की नई कोरोना की दवा 'कोरोन‍िल'-बोले, WHO सर्टिफाइड है
Patanjali Corona Medicine Coronil Launch : केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री की मौजूदगी में बाबा रामदेव ने लॉन्च की नई कोरोना की दवा 'कोरोन‍िल'-बोले, WHO सर्टिफाइड है

नई दिल्ली: बाबा रामदेव ने पतंजलि की आज कोरोना की दवा कोरोनिल लॉन्च की है। वहीं इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में रामदेव के साथ केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हर्षवर्धन और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी भी मौजूद थे। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि ‘चमत्कार के बगैर कोई नमस्कार नहीं होता’ उन्होंने कहा कि लगातार रिसर्च करना समय की आवश्यकता है।

इस नई दवा की घोषणा पर पतंजलि योगपीठ का दावा है कि कोरोना के उपचार में काम आने वाली दवा ‘Evidence Based’ है।  रामदेव ने दावा किया कि पतंजलि रिसर्च इंस्टिट्यूट की यह दवा विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) से सर्टिफाइड है। दावा है कि WHO ने इसे GMP यानी ‘गुड मैनुफैक्‍चरिंग प्रैक्टिस’ का सर्टिफिके‍ट दिया है।बाबा रामदेव ने कहा कि, इस दवा के लिए जितने भी पैरामीटर्स होते हैं, सभी का पालन किया गया है। कोरोनिल पर बहुत लोगों ने सवाल उठाए थे, लोग शक की निगाह से देखते हैं।

पतंजलि ने जो नई दवाएं लॉन्च की हैं, उनमें कोरोनिल और श्वासारी के अलावा पीड़ानिल, आर्थोग्रिट, मधुनाशिनी व मधुग्रिट, मुक्तावटी, थायरोग्रिट, प्रोस्टोग्रिट, इम्यूनोग्रिट, सिस्टोग्रिट आदि प्रमुख हैं। कोरोना वैक्सीन को लेकर पतंजलि के रिसर्च पेपर का विमोचन करते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि पतंजलि और केंद्र सरकार का एक ही सपना है कि नई तकनीक के आधार पर आयुर्वेद को स्थापित किया जा सके।

रामदेव ने इस मौके पर एक रिसर्च बुक भी लॉन्‍च की है। रामदेव ने कहा,  कोरोनिल के संदर्भ में नौ रिसर्च पेपर दुनिया के सबसे ज्‍यादा प्रभाव वाले रिसर्च जर्नल्‍स में प्रकाशित हो चुके हैं। 16 रिसर्च पेपर पाइपलाइन में हैं।

आपको बता दें  पतंजलि ने पिछले साल जून में ‘कोरोना किट’ लॉन्‍च की थी। इसपर खासा विवाद हुआ था। आयुष मंत्रालय ने कहा था कि पतंजलि ‘कोरोनिल’ को केवल शरीर की ‘रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने’ वाली बताकर बेच सकता है।

Please follow and like us: