पंचायत का तुगलकी फरमान, कुकर्म के आरोपी को 4 थप्पड़ मारने और 1 लाख रुपए का जुर्माने की सजा

193
पंचायत का तुगलकी फरमान, कुकर्म के आरोपी को 4 थप्पड़ मारने और 1 लाख रुपए का जुर्माने की सजा
child rape-demo pic

बिजनौर। उत्तर प्रदेश में यौन उत्पीड़न की घटनाओं में लगातार इजाफा हो रहा है। इधर पुलिस अपराध रोकने में नाकाम हो रही है। इन घिनौनी वारदातों को अंजाम देने वाले अपराधियों को सजा देने की बजाय जिम्मेदारों द्वारा उन्हें शह दी जा रही है, जिसके चलते ऐसे इन अपराधियों के हौंसले बुलंद हो रहे हैं। ताजा मामला उत्तरप्रदेश के बिजनौर जिले के एक गांव का है।

यहां की एक स्थानीय पंचायत ने तुगलकी फरमान जारी किया है मामला आठ वर्षीय बालक से दुष्कर्म के आरोपी को चार थप्पड़ मारने और एक लाख रुपए जुर्माना देने की सजा दी है। गंभीर मामले को इस तरह से निपटा देने से बालक के परिजनों में आक्रोश है।

बताया जा रहा है कि घटना के बारे में स्थानीय पुलिस अंजान बनी हुई है। जिले के एक गांव की आठ वर्षीय बालक से वहीं के रिश्ते के एक किशोर उम्र के भाई ने दुष्कर्म किया। पीड़ित ने जब शोर मचाया तो आरोपी किशोर वहां से भाग निकला। जानकारी पर पहुंचे परिजनों ने बालक को अस्पताल पहुंचाया।

परिजनों ने पुलिस से शिकायत की लेकिन आरोप पक्ष के दबंग होने से स्थानीय लोगों ने दोनों पक्षों में समझौता कराने की कोशिश की। गांव में पंचायत बुलाई गई। इसमें पंचों ने आरोपी को चार थप्पड़ मारने और एक लाख रुपए जुर्माना अदा करने की सजा दी।

इतनी मामूली सजा देकर मामले को रफा-दफा कर दिया। मामले में स्थानीय पुलिस का कहना है कि, मामला एक ही परिवार से संबंधित है। हम गांव गए थे, लेकिन पीड़ित परिवार ने शिकायत दर्ज करने से इनकार कर दिया।

हमें पंचायत और उसके फैसले के बारे में पता नहीं है। यह कानूनी नहीं है। जिले के एक वरिष्ठ पुलिस ने आश्वासन दिया कि इस संबंध में दोनों पक्षों को बुलाकर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

Please follow and like us: