निर्वाचन आयोग ने ‘निरहुआ’ की ‘फर्जी वोटिंग’ की शिकायत पर लिया दोबारा मतदान का फैसला

64

आजमगढ़ । आजमगढ़ के भाजपा प्रत्याशी निरहुआ का आरोप है कि आजमगढ़ के पांच बूथों पर मनबढ़ों ने मनमानी करते हुए बूथ कैप्चरिंग, फर्जी वोटिंग करवाई थी। ‘निरहुआ’ ने यह शिकायत 13 मई को चुनाव प्रेक्षक के साथ हुई मीटिंग में की थी। लोकसभा चुनाव 2019 अपने अंतिम चरण में है।

इसके पहले 12 मई को हुए छठे चरण के मतदान में आजमगढ़ की दो सीटों पर भी मतदान हुआ था। लेकिन भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ ने मतदान के ठीक बाद ही चुनाव आयोग से शिकायत की। ‘निरहुआ’ की शिकायत पर चुनाव आयोग ने विचार करते हुए भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में फैसला किया है। ‘निरहुआ’ के मुताबिक जिन बूथों पर दोबारा मतदान कराने की अपिल की गई है।

वह सभी शहर कोतवाली और सिधारी थाना क्षेत्र में पड़ते है। ‘निरहुआ’ का आरोप है कि लोग यहां चुनाव में पहले भी इसी तरह से वोट डलवाते थे। इस बार विरोध करने पर लोग किसी भी स्थिति से गुजरने को तैयार थे। माहौल खराब ना होने पाए इसको भी ध्यान में रखा गया। ‘निरहुआ’ ने बताया कि मिली जानकारी के अनुसार इन बूथों पर बीस हजार से अधिक मतदाता हैं।

भाजपा प्रदेश काय समिति के सदस्य और सदर क्षेत्र से विधानसभा का चुनाव लड़ चुके अखिलेश मिश्र गुड्डू ने बताया कि प्रेक्षक के साथ हुई मीटिंग में पाटी प्रत्याशी दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ ने इसकी शिकायत की थी।जिला निर्वाचन अधिकारी शिवाकांत द्विवेदी ने निर्वाचन आयोग से पुनर्मतदान की संस्तुति की थी। निर्वाचन आयोग से पुनर्मतदान की अनुमति मिलने के बाद जिला प्रशासन अब इसकी तैयारियों में जुट गया है।

मतदान को सकुशल संपन्न कराने के लिए पोलिंग पार्टी का गठन किया जा रहा है।जिला निर्वाचन अधिकारी शिवाकांत द्विवेदी ने बताया कि निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार 19 मई को मुबारकपुर के प्राथमिक विद्यालय करउत के बूथ संख्या 337 पर पुर्नमतदान का कार्य संपन्न कराया जाएगा।

इस बूथ पर कुल मतदाताओं की संख्या 1023 हैं। 12 मई के मतदान में कुल 533 लोगों ने अपने मत का प्रयोग किया था। लेकिन वीवीपैट में प्रत्याशियों के सिंबल न होने के कारण आयोग के निर्देश पर पुनर्मतदान कराया जाना है। इस मतदान के लिए एक पोलिंग पार्टी तैयार करने का निर्देश दिया गया है। साथ ही एक पार्टी रिजर्व में रखी जाएगी।

Source link